Wednesday, September 22, 2010

अयोध्या विवाद को समर्पित

किसी शायर की कुछ अनमोल पंक्तियां....

हमें घर बनाना था
हम ये क्या बना बैठे
कहीं मंदिर बना बैठे
कहीं मस्जिद बना बैठे
होती नहीं फ़िरकापरस्ति क्यूं परिंदों में
कभी मंदिर पर जा बैठे
कभी मस्जिद पर जा बैठे .